Get Important updates to shape up your career

कुसुम योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन: राजस्थान सोलर पंप कृषि कनेक्शन फॉर्म

भारत में किसानों को खेतों की सिंचाई के वर्षा पर निर्भर रहना पड़ता है । जिस वजह से कभी कभी किसानों की फसल भी ख़राब हो जाती है और उन्हें आर्थिक नुक्सान उठाना पड़ता है । इसलिए  राजस्थान सरकार अपने राज्य के लोगों के लिये विभिन्न योजनाओं का आरंभ करती रहती है ताकि राज्य के लोगों को फ़ायदा मिले और वहां के नागरिक आत्मनिर्भर बन सकें । राजस्थान कुसुम योजना या राजस्थान सोलर पंप योजना भी एक ऐसी ही योजना है जो किसानों के लिए शुरू की गई है जिसमें सरकार सौर ऊर्जा से चलने वाले सोलर पंप किसानों को उपलब्ध करवायेगी ।

कुसुम योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 2022

केंद्र और राज्य सरकार दोनों मिलकर लगभग 3 करोड़ डीज़ल और पेट्रोल से चलने वाले सिंचाई पंपो को सोलर पंप में बदलेगी । क्योंकि सोलर पंप सूरज से मिलने वाली ऊर्जा से चलेंगे। राजस्थान कुसुम योजना राजस्थान के कृषको के लिए बहुत आवश्यक है । इस योजना के तहत सरकार कृषको को खेतों में सोलर पंप लगाने के लिये प्रोत्साहित करेगी । इस योजना के लिए सरकार ने शुरू में 50 करोड़ का बजट घोषित किया है ।

राजस्थान सरकार ने यह निर्णय लिया है कि आने वाले 10 सालों में 17.5 लाख डीज़ल पम्पो और 3 करोड़ खेती में उपयोग होने वाले पम्पस को सोलर पम्पस में बदलना है । वर्ष 2020-21 के लेखा जोखे में राज्य के लगभग 20 लाख कृषको को इस योजना से सोलर पंप लगाए जाएंगे । कुसुम योजना 2022 का मुख्य आकर्षण : कुसुम योजना का शुभारंभ भारत के वित्तमंत्री श्री अरुण जेटली जी ने केंद्र सरकार के तहत किया । इस योजना का मुख्य बिंदु कृषकों को कम दरों पे सौर सिंचाई पंप प्रदान करना है । इसी योजन को  राजस्थान सोलर पंप योजना के नाम से भी जाना जाता है । इसके लिए सरकार ने एक आधिकारिक वेवसाइट बनाई है ।

KUSUM Yojana Registration Rajasthan

कुसुम योजना 2022 का लक्ष्य : – इस योजना की शुरुआत का लक्ष्य कृषि के लिए सुविधा देना है ताकि कृषकों को कम बारिश के कारण फ़सल का नुकसान ना उठाना पड़े । क्योंकि भारत में बहुत से ऐसे राज्य है जहां साल भर कम बारिश होती है । इन सब बातों को देखते हुए केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2022 की शुरुआत की जिसका मुख्य लक्ष्य कृषकों को निशुल्क बिजली देना है । साथ ही कृषकों को खेतों की सिंचाई करने के लिये सोलर पैनल की सुविधा देना है । इन दोनों सुविधाओं से किसानों बहुत फ़ायदा होगा और उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा ।

राजस्थान कुसुम योजना के फ़ायदे :इस योजना को शुरू करने से कृषकों को बहुत फायदा मिल रहा है क्योंकि सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से कृषको के खेतों में सूर्य की ऊर्जा से चलने वाले पंप लगाने से खेतों की सिंचाई अच्छे से हो जाती है । अब किसानों को खेतों की सिंचाई के लिए बिजली पर निर्भर नहीं रहना पड़ता क्योंकि सिंचाई पंप सौर ऊर्जा से चलेंगे और किसान दिन में ही खेतों की सिंचाई कर लेते हैं । इस अभियान के तहत अनुदान राशि का केंद्र सरकार द्वारा 30 प्रतिशत , राज्य सरकार द्वारा 30 प्रतिशत , नाबार्ड द्वारा 30 प्रतिशत और किसानों द्वारा 10 प्रतिशत है । किसानों को सिर्फ 10 प्रतिशत राशि देकर

KUSUM Yojana Registration
KUSUM Yojana Registration

Rajasthan Solar Pump Yojana Apply online

सौर उर्जा संयंत्र लगवाना है । जिस कृषक ने अपने खेतों में सौर ऊर्जा संयंत्र लगवाने के लिए बैंक से लोन लिया है वो इस संयंत्र के जरिये सौर से बिजली पैदा करके सरकार को अतिरिक्त बिजली देकर लोन की क़िस्त दे सकते हैं । इस योजना का फ़ायदा केवल राज्यस्थान के निवासियों के लिए ही है । इस योजना के तहत डीजल से चलने वाले 17.5 लाख  सिंचाई पंपों को सौर ऊर्जा से चलाने से बिजली की भी बचत होगी। सौर से चलने वाले इकाई लगाने से कृषक  अपने खेतों की सिंचाई आसानी से कर सकते है।

सौर से चलने वाले इकाई बंजर ज़मीन पर लगाई जाएगी ताकि किसानों की उपजाऊ भूमि खेती के लिए ही उपयोग हो और बंजर ज़मीन से किसान को आय भी प्राप्त होगी ।

Rajasthan KUSUM Yojana Online Apply

कुसुम योजना में आवेदन की योग्यता : सबसे मूलभूत योग्यता किसी भी योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक भारत का रहने वाला हो । सौर ऊर्जा संयंत्र लगवाने के लिए आवेदक द्वारा आवेदन किया हो और 0.5 मेगावाट से 2 मेगावाट तक कि क्षमता का संयंत्र ही लगा सकते हैं। और इस क्षमता के संयंत्र लगाने के लिए कम से कम 2 हेक्टेयर भूमि होनी चाहिए। आवेदक को सौर ऊर्जा संयंत्र लगाने के लिए सारा खर्च सरकार ही देगी।

कुसूम योजना के तहत आवेदन करने के आवश्यक साक्ष्य :  आवेदन करने वाले के पास आधार कार्ड होना चाहिए। स्थाई पते का प्रमाण पत्र जैसे कि वोटर कार्ड , रासन कार्ड , पंजीकरण की प्रतिलिपी , सरकार द्वारा जारी किया गया प्रामाणित पत्र , भूमि की जमाबंदी की प्रतिलिपी , मोबाइल नम्बर , बैंक खाता नम्बर और आवेदक के पासपोर्ट आकार के फोटो ।

Rajasthan KUSUM Yojana Form 2022

कुसुम योजना में आवेदन के माध्यम :  कुसुम योजना में आवेदन दोनों ही माध्यम से किया सकता है : ऑनलाइन और ऑफलाइन । अगर किसान या किसी के पास खेती योग्य भूमि के अलावा भूमि है और वो सौर ऊर्जा संयंत्र लगवाना चाहता है तो इसके लिए भी इसी योजना के तहत आवेदन करना होगा । और उन सभी आवेदन करने वालों और सरकार द्वारा चुने जाने वाले नाम की सूची आरआरईसी प्रमाणित वेबसाइट पर अपलोड कर देगा ।जहां से लीज़ पर भूमि देने वाले अपना नाम देख सकते है कि क्या उनका इस योजना के लिए चयन हुआ है या नहीं ।

और जो आवेदक किसी की भूमि पर ये सोर ऊर्जा संयंत्र लगवाने के लिए भूमि किराए पे लेना चाह रहे हैं , वो इस सूची से नाम देखकर संपर्क कर सकते हैं । ऑनलाइन आवेदन में तो आवेदक को पंजीकरण के समय एक पंजीकरण संख्या मिलेगी और आवेदक को इस पंजीकरण फॉर्म की एक प्रतिलिपी भी लेनी है । ऑफलाइन आवेदन की स्थिती में आवेदक को रशीद देंगे जिसे आवेदन कर्ता संभाल कर रखेगा । आवेदन के सभी आवश्यक साक्ष्य भी जमा करने होंगे तभी योजना का लाभ मिलेगा ।

PM Solar Pump Yojana Apply online

कुसुम योजना 2022 के तहत आवेदन की प्रक्रिया इस योजना के तहत सौर ऊर्जा संयंत्र लगवाने के लिए आवेदक निम्नलिखित प्रक्रिया से आवेदन कर सकता है :

Rajasthan KUSUM Yojana Portal
Rajasthan KUSUM Yojana Portal
Rajasthan KUSUM Scheme Online Applu
Rajasthan KUSUM Scheme Online Applu

Rajasthan Kusum Yojana Application Status 2022

कुसुम योजना में आवेदन की स्थिती :

कुसूम योजना राजस्थान के नागरिकों के लिए बहुत ही लाभदायक साबित हुई है । इस योजना से किसान अपने खेतों की सिचाई दिन में ही कर सकते हैं । पहले किसानों को सिचाई के लिए बिजली पे निर्भर रहना पड़ता था पर अब इस योजना की शुरुआत से किसान अच्छे से फसलों की सिंचाई करते हैं और इससे उन्हें आर्थिक लाभ भी मिल रहा है । अब किसान आत्मनिर्भर बन रहे हैं क्योंकि उन्हें अपनी फसल का उचित मूल्य मिल रहा है । किसानों का जीवन स्तर भी उच्च हो गया है । कुसुम योजना के तहत सौर ऊर्जा संयंत्र लगाने से किसान अतिरिक्त बिजली को सरकार को भी बेच सकते हैं । इससे भी किसानों को आय होगी । ये सौर ऊर्जा संयंत्र किसान अपनी बंजर भूमि पर लगवा सकते हैं ताकि खेती योग्य भूमि सुरक्षित रह जाये ।

Comments are closed.